top of page

चंद्र ग्रहण भारत में सूतक नहीं है।

दिनांक 5 जून 2020 दिन शुक्रवार को पूर्णिमा व्रत स्नान दान इत्यादि का पर्व है यह पर्व पूर्ण रूप निर्दोष है इस दिन कोई ग्रहण का सूतक आदि दोष नहीं है।


यूट्यूब पर या अन्य मैगजीन कैलेंडर इत्यादि में जो ग्रहण के विषय में बताया जा रहा है वह सब भारत को छोड़कर अन्य देशों में प्रभावी है!


5 जून को जो ग्रहण के बारे में बताया जा रहा है वह उपच्छाया अर्थात चंद्रमा के ऊपर हल्की सी धुंधली छाया होगी और यह एक हल्की सी खगोलीय घटना है।

Chandra grahan

इसको चंद्र मलिन योग भी कहा जाता है इस घटना के चलते जो ग्रहण की बात सामने आई है इसका भारत में किसी भी प्रकार का कोई सूतक मान्य नहीं होगा अर्थात इस बात को ध्यान में रखते हुए सभी देशवासियों शहर वासियों एवं ग्रामवासियों को सूचित किया जाता है की पूर्णिमा व्रत पर्व पूर्ण रूप निर्दोष है ।

अतः स्नान दान एवं पूर्णिमा पर्व के उपलक्ष में सत्यनारायण कथा पूजन आर्चन इत्यादी धार्मिक कर्म श्रद्धा पूर्वक संपन्न करें!

🙏🏼🙏🏼आपका दिन मंगलमय हो🙏🏼🙏🏼

कृप्या अपने प्रश्न साझा करे, हम सदैव तत्पर रहते है आपके प्रश्नो के उत्तर देने के लिया, शास्त्री जी डी डी द्विवेदी से प्रश्न पूछने के लिया हमे ईमेल करे sanskar@hindusanskar.org संस्कार और आप, जीवन शैली है अच्छे समाज की, धन्यवाद् 

52 views0 comments

Comments


bottom of page